कात्यायनी नवदुर्गा मे सँ छठम देवी छी ।

कात्यायनी
विश्वप्रसिद्ध महर्षि कात्यायनक पुत्री भेला कारण कात्यायनीक नाम सँ जानल
प्रतिशोध / विजय
देवनागरी कात्यायिनी
वर्ग: शक्तिक अवतार
अश्त्र: तरवार,
कमल
वाहन: बाघ वा सिंह

एहो सभ देखीसम्पादन